Tesla puts India entry plan on hold after deadlock on tariffs – Auto news hindi

[ad_1]

लगता है कि एलन मस्क की कुंडली में टेस्ला (Tesla) कार के भारतीय बाजार में गृह प्रवेश का योग नहीं है। पिछले कई महीनों से इस कार की एंट्री को लेकर कभी हां कभी ना जैसी बातें सामने आ रही थीं। हालांकि, अब भारत में टेस्ला इलेक्ट्रिक कार (tesla electric cars) को इंतजार लंबा हो गया है। दरअसल, एलन मस्क (Elon Musk) ने इन गाड़ियों को इंडियन मार्केट में बेचने के प्लान को फिलहाल टाल दिया है। रॉयटर्स की खबर के मुताबिक, Tesla Inc. ने इंडिया में अपनी कारों के शोरूम के लिए जगह तलाशने का काम बंद कर दिया है। वहीं, यहां काम कर रही अपनी टीम के कई लोगों को नई जिम्मेदारियां सौंप दी है। इस मामले से जुड़े तीन लोगों ने बताया कि कंपनी ने अपनी इंडिया की पूरी योजना को होल्ड पर दिया है।

इम्पोर्ट ड्यूटी पर मस्क और सरकार आमने-सामने

टेस्ला और सरकार के बीच इम्पोर्ट ड्यूटी घटाने को लेकर लंबे समय से बातचीत अटकी हुई है। अब इस डेडलॉक को लगभग सालभर से ज्यादा समय बीत चुका है। एलन मस्क चाहते हैं कि भारत में टेस्ला की फैक्ट्री लगाने से पहले सरकार उन्हें बनी बनाई इलेक्ट्रिक कारों को इंडिया लाने पर आयात कर में छूट दे, ताकि वह इंडियन मार्केट में अपनी कारों की डिमांड और रिस्पांस टेस्ट कर सकें। हालांकि, सरकार ये साफ कर चुकी है कि अगर टेस्ला को इंडिया में कार बेचनी है तो उसे यहां फैक्टरी लगानी होगी। वो इसके लिए सरकार की PLI स्कीम का लाभ उठा सकती है। भारतीय बाजार में टेस्ला की उन इलेक्ट्रिक कारों को नहीं बेचा जाएगा जो चीन में तैयार की गई हैं।

संबंधित खबरें

ये भी पढ़ें- Alto से Swift, WagonR तक; आपने 20% डाउन पेमेंट किया तब कितनी होगी मारुति कारों की EMI; समझें गणित

सरकार ने सालाना बजट में कोई छूट नहीं दी

रॉयटर्स के मुताबिक, टेस्ला ने कारों की इंडिया में लॉन्चिंग के लिए कंपनी ने 1 फरवरी की डेडलाइन तय की थी। इसी दिन भारत सरकार अपना सालाना बजट पेश करती है। कंपनी देखना चाहती थी कि क्या भारत सरकार बजट में टैक्स को लेकर कोई बदलाव करती है या नहीं, और उसकी लॉबिइंग काम आती है या नहीं। ऐसा नहीं होने पर कंपनी ने टेस्ला कार को भारत लाने के प्लान को होल्ड कर दिया। इस पूरे वाकये को लेकर एलन मस्क ने ‘भारत सरकार के साथ आ रही दिक्कतों’ वाला एक ट्वीट किया था। इसके बाद कई राज्य सरकारों ने उन्हें अपने यहां प्लांट लगाने का न्यौता दिया था। इसमें पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, पंजाब, महाराष्ट्र और तमिलनाडु शामिल हैं।

ये भी पढ़ें- ब्लैक और व्हाइट समेत Kia EV6 इलेक्ट्रिक कार में मिलेंगे ये 4 कलर ऑप्शन, आपको कौन सा पसंद

विदेशी इलेक्ट्रिक कार पर 60 से 100% टैक्स

>> देश में अभी 40,000 डॉलर (करीब 30 लाख रुपए) तक कीमत वाली इलेक्ट्रिक कारों पर 60 फीसदी तक टैक्स लगता है। वहीं, कीमत इससे ज्यादा होने पर 100 फीसदी टैक्स लिया जाता है। टेस्ला की कारों के मॉडल की प्राइस रेंज 39,990 डॉलर (करीब 30 लाख रुपए) से शुरू होकर 1,29,990 डॉलर (करीब 97.1 लाख रुपए) तक है। इसमें कंपनी के मॉडल 3, मॉडल Y, मॉडल X और मॉडल S हैं। इसमें मॉडल 3 की कीमत सबसे कम है।

>> मौजूदा इम्पोर्ट ड्यूटी के हिसाब से देखा जाए तो टेस्ला के सबसे सस्ते मॉडल 3 के सिर्फ बेस मॉडल पर ही 60% टैक्स लगेगा। इस तरह करीब 30 लाख रुपए की ये गाड़ी इंडिया में सिर्फ टैक्स जोड़कर ही 48 लाख रुपए की पड़ेगी। अगर इसके लॉन्ग रेंज ट्रिम की बात की जाए तो अमेरिका में इसकी कीमत 49,990 डॉलर (करीब 37.34 लाख रुपए) है। टैक्स के साथ भारत में ये करीब 75.5 लाख रुपए की हो जाएगी।

>> टेस्ला के मॉडल Y के बेस मॉडल की अमेरिका में कीमत 53,990 डॉलर (करीब 40 लाख रुपए) है, जो भारत में 80 लाख रुपए की मिलेगी। इसी तरह, मॉडल X के बेस मॉडल की प्राइस 99,990 डॉलर (करीब 74.6 लाख रुपए) है, जो भारत में 1.5 करोड़ रुपए की पड़ेगी। मॉडल S के बेस मॉडल की कीमत 89,990 डॉलर (करीब 67.2 लाख रुपए) है, जो इंडिया में टैक्स जोड़कर 1.3 करोड़ रुपए में मिलेगी।

[ad_2]

Leave a Reply

Your email address will not be published.