what is foreplay and why is it necessary?

[ad_1]

सेक्स! ये शब्द सुनते ही आज भी कुछ लोग बड़ा असहज महसूस करने लगते हैं। जबकि यह हमारे जीवन का हिस्सा है और खुलकर कहें तो ज़रूरत! एक बार को पुरुषों और उनकी पसंद और न पसंद के बारे में फिर भी बात हो जाती है, क्योंकि समाज में हर तरफ ऐसा ही माहौल रहा है। मगर, फोरप्ले और फीमेल प्लेजर से जुड़ी बातें करना तो भूल जाइए। हालांकि, अब वक्त बदल रहा है, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर कई इन्फ़्लुएन्सर्स इस अहम मुद्दे पर बात कर रहे हैं।

लेकिन बेडरूम में आज भी इसका उपयोग कुछ जोड़े नहीं कर पाते। वॉट मेंस वॉन्ट – ये तो हर कोई जनता है और उन्हें इसका आनंद मिल भी जाता है। मगर, महिलाओं को क्या चाहिए इस बारे में बात करना तो दूर कोई सोचता भी नहीं है। क्योंकि हो सकता है कि आपके पार्टनर के लिए भी सेक्स ही अल्टिमेट प्लेजर हो!

अब हम ये नहीं कह रहे हैं कि आपका पार्टनर समझना नहीं चाहता है या आपकी खुशी उनके लिए मायने नहीं रखती है। लेकिन ऐसा हो सकता है कि फोरप्ले और फीमेल प्लेजर के बारे में वे जानते न हो। या जानते हों, तो उन्हें लगता हो कि वो आपको खुश करने के लिए जो कर रहे हैं वो बिल्कुल सही है।

aapke partner ko bhi chahiye foreplayसेक्स से पहले आपके पार्टनर को फोरप्ले की जरूरत क्यों है. चित्र : शटरस्टॉक

ऐसे में उन्हें समझाने के लिए कि फोरप्ले आपके लिए कितना ज़रूरी है, आपको भी इसे ठीक से समझना होगा।

तो चलिये जानते हैं क्या है फोरप्ले?

टेक्निकल शब्दों में कहें तो फोरप्ले सेक्स से पहले की जाने वाली एक्टिविटी है जिससे एक दूसरे को स्टिम्युलेट किया जा सके। आसान भाषा में कहें तो किस करना, लव पॉइंट्स को स्टिम्युलेट करना, लिकिंग, फिंगरिंग आदि।

अब आप कहेंगी कि फोरप्ले की क्या ज़रूरत है? और वैसे भी पुरुषों को यह एक टाइम वेस्ट से कम नहीं लगता है। इसके बिना भी सेक्स किया जा सकता है। जी हां… फोरप्ले के बिना भी सेक्स किया जा सकता है, लेकिन फोरप्ले के बाद सेक्स करना और इसके बगैर सेक्स करने का अंतर आपसे बेहतर कोई नहीं समझ सकता लेडीज!

फोरप्ले और फ़ीमेल प्लेजर के विषय पर लोगों को जागरूक करने के लिए हेल्थशॉट्स ने ‘राइट टू प्लेजर’ की मुहिम चलाई है। जिसका हिस्सा बनी साइंटिस्ट और रिप्रोडक्टिव हेल्थ एडुकेटर जोया अली और गर्ल टॉक की होस्ट भूमिका भट्ट।

यहां जानिए क्या हैं उनके फोरप्ले पर विचार

तो आखिर क्यों ज़रूरी है फोरप्ले?

फोरप्ले का उद्देश्य यौन उत्तेजना में वृद्धि करना है, विशेष रूप से महिलाओं के लिए। ये वेजाइनल लुब्रिकेशन को बढ़ाकर शरीर को संभोग के लिए तैयार करने में मदद करता है। फोरप्ले यौन उत्तेजना और आनंद को बढ़ाता है और आपको ऑर्गेज्म की ओर ले जा सकता है।

यदि आप बिना फोरप्ले के सेक्स कर रही हैं, तो आपकी बॉडी अच्छे से स्टिमुलेट नहीं हो पाएगी। जिसकी वजह से लुब्रिकेशन की कमी हो सकती है और आपको सेक्स के दौरान दर्द भी हो सकता है। यह भी बता दें कि सेक्स के दौरान या बाद में दर्द होना नॉर्मल नहीं है।

फोरप्ले के कई फायदे हैं और यह सेक्स के दौरान आपकी कई तरह से मदद कर सकता है जैसे –

यौन उत्तेजना आपके शरीर में कई शारीरिक प्रतिक्रियाओं का कारण बनती है, जिनमें शामिल हैं:

आपकी हृदय गति, नाड़ी और रक्तचाप में वृद्धि
आपके जननांगों सहित आपकी रक्त वाहिकाओं का फैलाव
इससे जननांगों में अधिक रक्त प्रवाह होता है, जिससे लेबिया, क्लिटोरिस स्टिम्युलेट होते हैं
स्तनों का बढ़ना और निप्पल इरेक्ट हो जाना
वेजाइनल लुब्रिकेशन, जो संभोग को अधिक सुखद बना सकता है और दर्द को रोक सकता है

तो उन्हें बताएं कि यह आपके लिए क्यों महत्वपूर्ण है। आपको यह सब अपने पार्टनर को बताना होगा और उन्हें समझाना होगा कि आपको फोरप्ले की आवश्यकता क्यों है।

इन बातों को आपको अपने पार्टनर के साथ भी करना चाहिए साझा

यह आपको सेक्स के लिए लुब्रिकेट होने में मदद करता है
आपको संभोग सुख में मदद करता है
हर कोई एक ही गति से उत्तेजित नहीं होता है और कुछ को दूसरों की तुलना में अधिक समय की आवश्यकता होती है
यह आपको उनके करीब महसूस करने में मदद करता है

तो लेडीज, अपनी झिझक को छोड़कर कम्यूनिकेट करें!

यह भी पढ़ें : पार्टनर के स्पर्म काउंट में आ रही है कमी, तो उन्हें खिलाएं ये 4 फूड्स

[ad_2]

Leave a Reply

Your email address will not be published.