what is serotonin and how it can help you to be happy

[ad_1]

यदि आपने सोचा है कि अपने मूड को कैसे बढ़ाया जाए, तो किसी न किसी ने आपको सेरोटोनिन के बारे में बताया होगा। यह मस्तिष्क में एक न्यूरोट्रांसमीटर है जो खुशी और समग्र संतुष्टि से जुड़ा हुआ है। आप खुशी को पाने के लिए अपने पसंदीदा खाद्य पदार्थ खा सकती हैं, लेकिन अपने रोजमर्रा के जीवन में छोटे-छोटे बदलाव करना भी एक विकल्प हो सकता है।

तो इससे पहले कि हम आपको बताएं कि बेहतर मूड के लिए अपने सेरोटोनिन के स्तर को कैसे बढ़ाया जाए, आपको यह जानना होगा कि यह वास्तव में यह क्या है।

क्या है सेरोटोनिन?

नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट के अनुसार, यह एक न्यूरोट्रांसमीटर है, जिसका अर्थ है एक रसायन जो तंत्रिका कोशिकाओं द्वारा बनाया जाता है और शरीर में अन्य कोशिकाओं के साथ संचार करने में सहायता करता है। शोध के अनुसार, जठरांत्र संबंधी मार्ग लगभग 95 प्रतिशत सेरोटोनिन का उत्पादन करता है, जबकि मस्तिष्क शेष 5 प्रतिशत बनाता है। यह आपको बेहतर महसूस कराता है और आपके मूड को बेहतर बनाता है।

प्रभावी मोटर कौशल और संज्ञानात्मक कार्यप्रणाली के लिए सेरोटोनिन की आवश्यकता होती है। यह तंत्रिका कार्य का हिस्सा है जो रक्तचाप, हृदय गति और पाचन तंत्र को नियंत्रित करता है। यह शरीर के लिए महत्वपूर्ण है।

संकेत जो बताते हैं कि आपको अपने सेरोटोनिन के स्तर को बढ़ाने की आवश्यकता है

यदि आप लगातार मूड में बदलाव, चिड़चिड़ापन, सोने में परेशानी और भूख न लगने का सामना कर रही हैं। तो इस बात की बहुत अधिक संभावना है कि आपके सेरोटोनिन का स्तर कम हो गया है।

स्वास्थ्य कोच सर्वेश शशि, एक इंस्टाग्राम वीडियो में, खुशी को डिकोड करते हैं। अगर आप खुशियों से वंचित हैं तो यहां उनका वीडियो देखें:

सेरोटोनिन के स्तर को कैसे बढ़ाएं और खुश रहें

1. अपने वॉलपेपर को किसी ऐसी चीज़ पर सेट करें जो आपको खुश करे

यदि आप कुछ ऐसा देखते हैं जो आपको दिन-ब-दिन खुश करता है, तो यह आपके मूड को बेहतर बनाने में मदद करेगा। इससे आपका सेरोटोनिन का स्तर कभी कम नहीं होगा।

2. सांस अंदर लें, सांस छोड़ें

हर दिन कम से कम 10 सांसें लें क्योंकि यह आपके तंत्रिका तंत्र को शांत करने और तनाव और चिंता को कम करने में मदद कर सकता है।

khud ko khush rakheinखुद को खुश रखें।चित्र-शटर स्टॉक।

3. रोज सुबह उठने पर अपना पसंदीदा गाना बजाएं

आप जिस संगीत का आनंद लेते हैं उसे सुनने से शरीर में तनाव पैदा करने वाले हार्मोन के उत्पादन में कमी आने की संभावना अधिक होती है। संगीत चिकित्सा में आपको खुश करने की शक्ति है।

4. अपने शरीर को हिलाएं

योग, ताई ची, पिलाटीज़ या सिर्फ नृत्य का अभ्यास करें, लेकिन अपने हार्ट को पंप करते रहें। व्यायाम तनाव को दूर करने का एक प्राकृतिक और प्रभावी तरीका है।

5. नकारात्मक लोगों को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से अनफॉलो करें

अपने आप को नकारात्मकता से घेरने से बुरा कुछ नहीं है। चूंकि हम सभी के पास अपनी भावनाओं को नियंत्रित करने की शक्ति है, इसलिए सोशल मीडिया और वास्तविक जीवन दोनों में नकारात्मक लोगों से दूर रहें।

यह भी पढ़ें : बार-बार पानी पीने के बावजूद नहीं बुझ रही है प्यास, तो जानिए इसका कारण और समाधान

[ad_2]

Leave a Reply

Your email address will not be published.